Sunday, September 22, 2019

Krishna Bhajan by Ajay Kapil

Mahaveer Bhajan by Ajay Kapil

Ram Bhajan by Ajay Kapil

Shanidev Bhajan By Ajay Kapil

Ghazals by Ajay kapil

Hindi Songs by Ajay Kapil

Hindusthani Classical by Ajay kapil

Bhojpuri Music by Ajay Kapil

1,640SubscribersSubscribe
video

Ram ka sumiran by Ajay kapil on Astha Bhajan

Bhajan- Ram Ka Sumiran Singer and Music- Ajay kapil Raag - kirwani Lyrics- Kishan Bamnawat राम का सुमिरन बड़ा सुखदायी I जग के पालक हैं रघुराई II राम शरण में मिलता सहारा I डूब रहे जो, मिलता सहारा II राम की महिमा कैसे सुनाऊँ I राम की लीला समझ न पाऊं II राम से लगन लगाई II राम का सुमिरन..... राम के रंग में, खुद को रंगाऊँ I जिधर भी देखूं, राम ही पाऊं II तन मन में जब राम बसे हों I राम के मीठे बोल बसे हों II विपदा निकट न आयी II राम का सुमिरन.....
video

Shanidev bhajan-Chalo chalo shanidham Chalo

Album- Shani Saware Bhagya Hamare Company- Chanda Cassettes Singer- Ajay Kapil Music- Ajay Kapil Lyrics- Sanu Chhatriya Director- Tasleem Tanha चलो चलो शनिधाम चलो शनि का लेकर नाम चलो सुनो रे भक्तों नहीं बनेंगे सबके बिगड़े काम चलो, चलो चलो शनिधाम चलो शानिशरण में, जाके चरण में, हमको शीश नवाना है | कठिन डगर है, कठिन सफ़र है, फिर भी चलते जाना है || शनि द्वार पर जाकर भक्तों, करते हम विश्राम चलो | चलो चलो शनिधाम चलो || चलते चलते पाँव में अपने पद जायेंगे छाले | पहुँचने से पहले जाने के, पड़ जायेंगे लाले || कदम बढाया है अब चाहे, जो भी हो परिणाम चलो || चलो चलो शनि धाम चलो ||
video

Shani Bhajan-Aho Bhagya hamare

Album- Shani Saware Bhagya Hamare Music Company- Chanda Cassettes Shanidev Bhajan- Aho Bhagya Hamare Singer- Ajay kapil Music- Ajay Kapil Lyrics- Sanu Chhatriya Director- Tasleem Tanha अहो भाग्य हमारे शनिदेव पधारे | मिलकर सारे, लगाये हम जयकारे || शनि देव का सबसे नाता शनि देव है सबके दाता गीत शनि के जो है गाता जीवन में सब कुछ है पाटा शनि के नाम से सब घबराये, विघ्नाबधा कोई निकट न आये शनि की दृष्टि सी कौन बचाए, शनि है केवल एक उपाए जब जब भक्तो पे आये मुसीबत, शनि का नाम पुकारे अहो भाग्य हमारे शनिदेव पधारे मिलकर सारे लगाये हम जयकारे शनि देव जिस बन्दे से रूठा, समझो उसका नसीब फूटा जिससे रूठा उसको लूटा, शनि के कोप स कौन है छूटा शनि करे हर काम अचानक, रूप धरे जब शनि भयानक शनि की दृष्टि इतनी घातक, बचके रहेगा कौन कहीं तक शनि का कोप जो हुआ किसी पर, घिरता वो मारे मारे अहो भाग्य हमारे शनिदेव पधारे मिलकर सारे लगाये हम जयकारे